आयुर्वेद चिकित्सा

 





         कोलाइटिस (ब्रहादांत्र शोच,अतिशार)
          
                         यह रोग दो प्रकार का होता है,व्रणीय तथा श्लेस्मक , यह रोग किसी को भी हो सकता है

       लक्षण 
                       इस रोग से पीडित रोगी की श्लेष्मा झिल्ली में जलन होने लगती है,ऑतो में सूजन आ जाती है पेट में मरोड़ होती है, इस रोग से पीड़ित रोगी जब मल करता है तो उसके मल में खून के साथ बलगम जैसे पदार्थ निकलने लगता है,इस रोग से पीडित रोगी  का वजन दिन-प्रतिदिन घटने लगता है.

        उपाय
                      दूध एवं दूध से बनी चीजो का सेवन कदापि ना करे,सुबह चाय न ले अगर लेना ही है तो दूध न डाले,घी न खाए.,कपल भारती योग करे

       क्या खाए

                     छाछ को खाने में लेने की आदत डाले,दही ले सकते है पपीता ले,पालक,गाजर खाए

      षधि

                   50ग्राम--सौफ
                            50ग्राम--हर्र
                            50ग्राम--बहेडा
                            50ग्राम--आवला
                            50ग्राम--सनाह पत्ती
                            25ग्राम--काला नमक
                                                                इन सभी का चूर्ण बना ले
                               इस चूर्ण को 250ग्राम मुनक्का ले कर उसके बीज निकाल कर मुनक्के में मिला कर पीस ले,फिर छोटी -छोटी गोली बना ले

     सेवन विधि
     
                  पहले पन्द्रह दिन एक-एक गोली सुबह,दोपहर,शाम लेनी है,सुबह की गोली खाली पेट लेनी है अन्य खाने के बाद,पन्द्रह दिन बाद सुबह और शाम लेनी है यह गोली कम से कम तीनसे चार माह लेनी है,स्वस्थ लोग भी इसका सेवन कर सकते है


    नोट- इस बीमारी का इलाज एलोपैथी में नही है
                                           अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करे http://aajkamaster.blogspot.in 

1 comment:

  1. मुझे आपकी blog बहुत अच्छी लगी। मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। मुझे लगता है कि आपको इस website को देखना चाहिए। यदि आपको यह website पसंद आये तो अपने blog पर इसे Link करें। क्योंकि यह जनकल्याण के लिए हैं।
    Health World in Hindi

    ReplyDelete